MBA

MBA Full Form in Hindi ? Eligibility And Collages की पूरी जानकारी

MBA Full Form in Hindi Eligibility And Collages

MBA Ka Full Form Kya Hota Hai ? – एम.बी.ए का पूरा नाम ! Hello Friends, आपका स्वागत है हमारी वेबसाइट पर! MBA Ka Full Form Kya Hota Hai ? इस बारे में जानने से पहले हम आपको बता दें कि यह एक master degree है जिसे कोई भी, किसी भी stream जैसे bba, b.com, bsc आदि में graduation करने के बाद कर सकता हैं।अगर आपने अपना graduation complete कर लिया है और अब आप कोई master degree करने की सोच रहे हैं तो MBA आपके लिए एक अच्छी stream हो सकती है !

दोस्तों हम कई बार  सुनते  है  की ये MBA कर रहा है।  वह MBA करने वाला है।  और बहुत  सारे parents भी अपने बच्चो को MBA करने की सलाह देते है।  पर हमे MBA के बारे में अधिक जानकारी नहीं होती है।  So आज मैं MBA के बारे में कुछ लिखने का प्रयास कर रहा हू ! आशा करता हु की आप को इस पोस्ट से जरूर मदद मिलेगी।

MBA full form in Hindi और MBA में कैरियर, प्रवेश परीक्षा, पाठ्यक्रम और सभी विषयों की पूरी जानकारी तथा एमबीए की पढाई के लिए प्रमुख कॉलेज और उनकी वेबसाइट की लिस्ट हम आपके साथ शेयर कर रहे हैं|

MBA FULL FORM IN HINDI

MBA Ka Full Form – Master Of Business Administration होता है जिसे हिंदी में “व्यवसाय प्रबंध में स्नाकोत्तर” नाम से जाना जाता है।

What is MBA – एमबीए क्या हैं

MBA की Full Form होती है-Master of Business Administration, जिसका हिंदी में अर्थ होता है “व्यवसाय प्रबंधन में स्नातकोत्तर”| यह एक बहुत ही उपयोगी Course है, जो International स्तर पर भी महत्वपूर्ण है|

MBA के लिए QUALIFICATION –

MBA करने के लिए व्यक्ति को किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से स्नातक होना जरुरी है और स्नातक में कम से कम 50% मार्क्स होने भी जरुरी हैं| अगर छात्र SC/ST से belong करते हैं तो उनके लिए स्नातक में 45% मार्क्स होने जरुरी हैं| MBA में एडमिशन के लिए छात्रों को प्रवेश परीक्षा से भी गुजरना पड़ता है|

एमबीए कौन कर सकता हैं ? Who is Eligible For MBA ?

MBA कोर्स में प्रवेश पाने वाले विद्यार्थी को अपने बैचलर डिग्री पूरी करनी पड़ती हैं, जिसमें उन्हें कम – से – कम 50% अंक लाने होते हैं, परन्तु यदि कोई विद्यार्थी SC/ST का हैं तो उसके लिए न्यूनतम अंक सीमा 45% हैं. इस कोर्स की सबसे अच्छी बात यह हैं कि इसके कोई आयु सीमा नहीं हैं. आप कभी भी, किसी भी आयु में MBA जॉइन कर सकते हैं.

यह सवाल हर उस विद्यार्थी के मन मे जरूर आता होगा जो MBA करना चाहता है. और आना लाजमी भी है. हर स्नातक विद्यार्थी MBA की Admission प्रक्रिया में शामिल होन के योग्य माना गया है. MBA मे प्रवेश लेने के लिए एक Admission Test होता है.

जिसे Common Admission Test (CAT) के नाम से जाना जाता है. इसके अलावा भी कई बडी-बडी Universities अपन खुद का Admission Test आयोजित करती है. और इस Test के अनुसार बनी Merit के आधार पर Admission दिया जाता है

HISTORY :

यह एक बहुत ही उपयोगी Course है, जो International स्तर पर भी महत्वपूर्ण है|

MBA का फुल फॉर्म होता  है – Masters In Business Administration हिन्दी में इसे कहते है – व्यवसाय प्रशासन स्नातक

MBA का पूरा नाम (Full Form) Master of Business Administration है. यह एक Post Graduate Degree है. जिसमें अधिकतर Business Management, Finance, Marketing आदि के बारे में पढाया जाता है. MBA को Business के लिए एक पेशेवर Degree माना गया है|

MBA की शिक्षा देने के लिए प्रथम School अमेरिका में खोला गया था| MBA का Course 2वर्ष का होता है| यदि आप MBA Course करना चाहते है, तो इसमें आपको अनेक विकल्प मौजूद होते है जैसे —

  • Mba in Finance
  • Mba in Marketing
  • Mba in Human resources
  • Mba in international business
  • Mba in Human resources
  • Mba in international business
  • MBA in Operation management
  • MBA in Information Technology
  • MBA in supply chain management
  • MBA in rural management
  • MBA in agriculture business management
  • MBA in Healthcare Management
  • Executive Mba

मास्टर ऑफ़ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन की जानकारी

Master Of Business Administration (MBA) Information In Hindi वर्तमान युग प्रतिस्पर्धा का युग हैं. हर कोई सफल होने की होड़ में शामिल हैं. सफल तो हर कोई होना चाहता हैं, परन्तु प्रश्न यह हैं कि सफल हुआ कैसे जाये?

अपनी विद्यालयीन शिक्षा को पूर्ण करके जब कोई विद्यार्थी महा-विद्यालयीन स्तर पर पहुँचता हैं तो उसके सामने कई विकल्प खुले होते हैं, जिन्हें वह करियर के रूप में चुन सकता हैं. ऐसा ही एक विकल्प हैं –MBA.

मास्टर इन बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन [Master in Business Administration]. यह डिग्री अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता रखती हैं. यह एक बहुमुखी प्रतिभा रखने वाला क्षेत्र हैं और विभिन्न देशों में उपयोगिता रखता हैं. बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन इंडस्ट्री में MBA होल्डर्स की बहुत डिमांड हैं. वैसे MBA के विद्यार्थियों के लिए एक बात जानने योग्य यह हैं कि वे जितने अच्छे कॉलेज से यह कोर्स करेंगे, उनकी जॉब उतने ही अच्छे मैनेजमेंट लेवल पर लगेगी अर्थात उतनी ही अच्छी कंपनी में और उसी के अनुरूप उनके पैकेज भी कम या ज्यादा होते हैं. यह 2 साल का कोर्स हैं और मल्टी नेशनल कंपनियों के दिनों – दिन बढ़ने के कारण इसकी डिमांड भी बढ़ती जा रही हैं. यदि हम ये भी कहें कि MBA होल्डर्स की डिमांड कभी कम नहीं होगी या इनका स्तर नहीं गिरेगा तो यह अतिशयोक्ति नहीं होगी.

TOP COLLEGES IN INDIA FOR MBA

India में MBA करने के लिए सबसे अच्छे IIM colleges है जिममें admission लेने के लिए आपको cat exam क्लियर करनी पड़ेगी इसके बाद ही आप किसी भी best IIM colleges में admission लेने के लिए eligible हो पाते हैं।

Top 3 college in India for MBA : यह India के तीन best IIM colleges जिनमे प्रत्येक व्यक्ति जिसे MBA course करना है वह इन्ही college में admission लेना चाहता है।

  • Indian institute of management Ahmadabad (IIMA)
  • Indian institute of management bengaluru (IIMB)
  • Indian institute of management Kolkata

एम बी ए की प्रवेश परीक्षाएँ [MBA Course details of Entrance Examinations] -:

Entrance Test : यह MBA की Admission की पहली स्टेप होती है।  आप को Entrance Test अच्छे मार्क्स से passed करना होता है। तभी आप को एक अच्छे Collage में Admission मिलेगी।

यह एक Multipal Choice Test होती है।  इसमें
Quantitative Ability
Verbal Ability
Logic & Reasoning
General Business Awarness
Grammer etc

type का syllabus रहता है।  इसके लिए बहोत सारे Classes भी available है   वह आप को अच्छी तरह से Guide कर सके है।

MBA में प्रवेश पाने के लिए 2 तरीकें हो सकते हैं -:

  • आप डायरेक्टली किसी कॉलेज में प्रवेश लें [यहाँ ध्यान देने वाली बात यह हैं कि ये कॉलेज प्राइवेट होंगे.]
  • MBA के लिए विभिन्न प्रवेश परीक्षाएँ होती हैं, इनमें से किसी भी परीक्षा को उत्तीर्ण करके आप काउंसलिंग द्वारा कॉलेज में प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं.

MBA की प्रवेश परीक्षाओं का शुल्क [MBA course Fees details of Entrance Exams]-:

उपरोक्त प्रवेश परीक्षाओं का शुल्क सामान्यतः उनकी ऑफिशियल वेबसाइट पर देखा जा सकता हैं, परन्तु कुछ प्रवेश परीक्षाओं का शुल्क नीचे दिया जा रहा हैं, जैसे -:

  • AIMA-MAT की फीस 1200/- हैं,
  • CAT की फीस 1600/- हैं,
  • CMAT की फीस 1400/- हो सकती हैं, आदि.

M.B.A.  = Master of Business Administration  इसे हिंदी में व्यवसाय प्रबंधन में स्नाकोत्तर कहा जाता है। यह एक डिग्री है जसमे आपको वित्त विपणन के बारे में knowledge दिया जाता है। इसमें आप को business management , Business Skill , Marketing skill ,Business Strategy etc  से परिचित किया जाता है।

दोस्तों आज देखा जाता है की globalization का जमाना है।  पूरी दुनिया में Corporate ,Industrial, Economy की बहोत growth हो रही है।  ऐसे में MBA एक अच्छा खासा पैकेज देने वाला Option है। इंडिया में ही नहीं बल्कि विदेशो में भी आज इसे बहोत Scope है। तो आये MBA के बारे में जानते है।

MBA कोर्स का पाठ्यक्रम और शुल्क [MBA course Syllabus & Fee structure] -:

M.B.A.  = Master of Business Administration  इसे हिंदी में व्यवसाय प्रबंधन में स्नाकोत्तर कहा जाता है। यह एक डिग्री है जसमे आपको वित्त विपणन के बारे में knowledge दिया जाता है। इसमें आप को business management , Business Skill , Marketing skill ,Business Strategy etc  से परिचित किया जाता है।

दोस्तों आज देखा जाता है की globalization का जमाना है।  पूरी दुनिया में Corporate ,Industrial, Economy की बहोत growth हो रही है।  ऐसे में MBA एक अच्छा खासा पैकेज देने वाला Option है। इंडिया में ही नहीं बल्कि विदेशो में भी आज इसे बहोत Scope है। तो आये MBA के बारे में जानते है।

MBA कोर्स की फीस विभिन्न शिक्षण संस्थानो के अनुसार भिन्न – भिन्न होती हैं और इनकी फीस निर्धारित करने में अलग – अलग विषय भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. कैंडिडेट इन शिक्षण संस्थानों की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर इस संबंध में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

MBA COURSE PROGRAM –MBA करने के इच्छुक छात्रों के लिए कई प्रकार के कोर्स की सुविधा दी गयी है| कुछ लोग जो रेगुलर कोर्स नहीं करना चाहते या कहीं पर जॉब करते हुए MBA करना चाहते हैं तो उनके लिए भी अलग  से प्रोग्राम बनाये गए हैं| MBA कोर्स के लिए प्रोग्राम इस प्रकार हैं –

Full Time MBA – यह कोर्स उन लोगों के लिए हैं जो रेगुलर MBA करना चाहते हैं| इसकी समयावधि 2 साल की होती है|

Accelerated MBA – इस कोर्स की समयावधि भी दो साल ही होती है परन्तु इसमें हाई स्पीड क्लासेस होती हैं और एग्जाम शेडूल भी फ़ास्ट होता है|

Part Time MBA – इस कोर्स की समयावधि निश्चित नहीं होती है| इस प्रोग्राम की क्लासेस शाम को या सप्ताह के अंत में होती हैं| इस प्रोग्राम में वे लोग हिस्सा लेते हैं जिनके पास समय की कमी है या कहीं और जॉब कर रहे होते हैं|

Modular MBA – यह प्रोग्राम भी पार्ट टाइम के जैसा ही होता है| इसमें एक हफ्ते से लेकर तीन हफ्ते की क्लास का एक पैकेज बनाया जाता है और उसी के अनुसार पढ़ाया जाता है|

Executive MBA – इस कोर्स का उद्देश्य पहले से किसी कंपनी में कार्यरत कर्मचारीयों या मैनेजरों की शैक्षिक योग्यता को बढ़ाना है| इस कोर्स में वे लोग एडमिशन ले सकते हैं जो पहले से कहीं कार्यरत हैं| यह कोर्स 2 साल से कम में भी पूरा किया जा सकता है|

  • एग्जीक्यूटिव MBA प्रोग्राम [Executive MBA Program / EMBA Program] -:
  1. यह प्रोग्राम पहले से कार्यरत मेनेजर और एग्जीक्यूटिव की शैक्षणिक योग्यता को बढ़ाने के उद्देश्य को पूरा करने में सहायक होता हैं.
  2. एडवांस एग्जीक्यूटिव एजुकेशन को बढ़ावा देने के लिए एग्जीक्यूटिव MBA काउंसिल की स्थापना सन 1981 में की गयी थी, जिसके तहत यह एग्जीक्यूटिव MBA प्रोग्राम चलाया जाता हैं.
  3. यह प्रोग्राम पूर्णकालिक तौर पर काम [Fulltime working] करते हुए भी 2 साल अथवा इससे भी कम समय में पूरा किया जा सकता हैं.
  4. इस प्रोगाम को करने वाले विद्यार्थियों में सभी तरह के संस्थानों [ओर्गनाइज़ेशन] के कर्मचारी [employees] शामिल हो सकते हैं, चाहे फिर वो संस्थान शासकीय [गवर्नमेंट] हो, प्रॉफिट मेकिंग ओर्गनाइज़ेशन हो अथवा नॉन – प्रॉफिट मेकिंग ओर्गनाइज़ेशन हो अथवा किसी और प्रकार का संस्थान हो.
  5. यह प्रोग्राम छोटे अथवा बड़े सभी तरह के संस्थानों के कर्मचारी करते हैं.
  6. इस प्रोग्राम के विद्यार्थियों के पास फ्रेशर MBA स्टूडेंट्स की तुलना में 10 साल अथवा ज्यादा समय का कार्य का अनुभव होता हैं.

MBA में स्पेशलाइजेशन के प्रमुख 10 विकल्प [Top 10 MBA Specialization Options] -:

चूँकि MBA एक मास्टर डिग्री हैं और यह सामान्यतः 2 साल का कोर्स होता हैं, जिसमें कैंडिडेट को मैनेजमेंट के सभी विषयों का ज्ञान दिया जाता हैं और जैसा कि इसके नाम से ही स्पष्ट हैं कि इसका कैंडिडेट अपने चुने हुए क्षेत्र में मास्टर होता हैं अर्थात उसमे महारत रखता हैं. इसी उद्देश्य को पूरा करने के लिए स्पेशलाइजेशन इसकी खासियत हैं. आप किस विषय में स्पेशलाइजेशन करना चाहते हैं, यह आपकी इच्छा और इंटरेस्ट पर निर्भर करता हैं.

MBA 1st Year में पहले सेमिस्टर में कैंडिडेट को मैनेजमेंट के सभी विषयों का संक्षिप्त ज्ञान कराया जाता हैं. इसके बाद इसी वर्ष के दूसरे सेमिस्टर में कैंडिडेट को स्पेशलाइजेशन करने के लिए उपलब्ध विषयों का ज्ञान कराया जाता हैं, ताकि उसे दूसरे वर्ष में कौनसा विषय लेना हैं, इस निर्णय को लेने में आसानी हो सके.

MBA 2nd Year में कैंडिडेट स्वयं द्वारा चुने गये स्पेशलाइजेशन के विषय में गहन अध्ययन करके उसमें मास्टर डिग्री प्राप्त करता हैं.

नीचे आपको MBA में स्पेशलाइजेशन करने के लिए टॉप 10 विकल्पों की जानकारी दी जा रही हैं, जिससे आपको अपने करियर के संबंध में महत्वपूर्ण निर्णय लेने में मदद मिलेगी -:

  • MBA इन फाइनेंस [MBA in Finance],
  • MBA इन मार्केटिंग [MBA in Marketing],
  • MBA इन ह्युमन रिसोर्स [MBA in Human Resource / HR],
  • MBA इन इंटरनेशनल बिज़नेस [MBA in International Business / IB],
  • MBA इन ऑपरेशन मैनेजमेंट [MBA in Operation Management],
  • MBA इन इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी [MBA in Information Technology],
  • MBA इन सप्लाई – चैन मैनेजमेंट [MBA in Supply – Chain Management],
  • MBA इन रूरल मैनेजमेंट [MBA in Rural Management],
  • MBA इन एग्री बिज़नेस मैनेजमेंट [MBA in Agri Business Management],
  • MBA इन हेल्थ केयर मैनेजमेंट [MBA in Health Care Management]

Full Time MBA :यह फुल टाइम रहता है और 4 सेमिस्टर रहते है।

Distance Learning MBA : यह Distance Learning education में आता है बहोत सारी university यह course Offer करती है।

Online MBA : आप online भी कर सकते है।

MBA में मुख्य विषय –

बिजनेस के प्रकार के आधार पर MBA के कोर्स में भी कई विषयों को सम्मिलित किया गया है| विद्यार्थी अपने इंटरेस्ट के अनुसार अपना पसंदीदा विषय चुन सकते हैं| MBA में विषयों की सूची इस प्रकार है –

► Finance
► Accounting
► Marketing
► Economics
► Human Resource
► Tourism
► Hotel Management
► Construction Management
► Hospital Management
► Brand Management
► Supply Chain Management
► Material Management
► Health Care Management
► Operations Management

MBA (एमबीए) कोर्स की जानकारी –

MBA एक स्नाकोत्तर (post graduate) कोर्स है जो छात्रों को व्यवसाय के क्षेत्र में निपुण बनाता है| MBA की डिग्री प्राप्त लोग विभिन्न कंपनियों में बिजनिस मैनेजमेंट का काम करते हैं उनका मुख्य कार्य व्यापार प्रबंधन होता है|

आसान भाषा में कहें तो MBA की डिग्री वाले लोग छोटी या बड़ी कंपनियों को manage करने का कार्य करते हैं| चूँकि किसी भी बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए एक ऐसे व्यक्ति की जरुरत होती है जो बिजनेस के सभी कामों पर नजर रखे और कैसे बिजनेस को आगे बढ़ाया जाये इसका प्रारूप तैयार करे| इसी कार्य के लिए बिजनेस सम्बन्धी कंपनियां MBA करने वालों को नौकरी देती हैं|

 

MBA करने के बाद नौकरी की संभावनाएं [MBA course JOB OPPURTUNITIES] -:

किसी भी कोर्स को जॉइन करने से पहले हम यही देखते हैं कि वह जॉइन करके, उसे पूरा कर लेने पर हमे कोई नौकरी मिलेगी या नहीं और अगर मिलेगी तो उसका पैकेज क्या होगा. चूँकि MBA कोर्स की पढ़ाई में खर्च थोड़ा ज्यादा होता हैं, तो नौकरी के पैकेज भी उसके अनुसार ही होते हैं. इस कोर्स के लिए जो कॉलेज ज्यादा फीस लेता हैं तो फिर वहाँ उतनी ही बड़ी कंपनियां भी अपने पैकेज लेकर आती हैं, बल्कि अगर हम ये कहें कि फीस ज्यादा ही इसलिए होती हैं क्योंकि वहाँ बड़ी कंपनियां अपने कैंपस लेकर आती हैं. सबसे अच्छी बात यह हैं कि इस कोर्स को करने के बाद कैंडिडेट बहुत सी फ़ील्ड्स में काम करने के लिए तैयार हो जाते हैं और उन्हें पैकेज भी उनकी योग्यतानुसार और अनुभव के आधार पर दिए जाते हैं. इस कोर्स को करने के बाद जिन प्रोफाइल पर जॉब की जा सकती हैं, उनमे से कुछ निम्न लिखित हैं -:

  • मार्केट रिसर्च एनालिस्ट,
  • मार्केटिंग मेनेजर,
  • एडवरटाइजिंग मेनेजर,
  • ह्युमन रिसर्च मेनेजर,
  • मैनेजमेंट कंसलटेंट,
  • बैंकिंग एंड फाइनेंस,
  • इन्फोर्मशन सिस्टम मैनेजमेंट, आदि.

 

MBA के बाद Job :

क्योंकि business administration industry में वर्तमान समय में MBA holders की बहुत ज्यादा demand है जो व्यक्ति MBA किए होता है उनको multinational companies में job मिलने के chances ज्यादा होते हैं।

लेकिन यहां पर आपको एक बात याद रखने की जरूरत है कि MBA आप जितने अच्छे management college से करेंगे आपकी job मिलने के chance उतने ही ज्यादा रहेंगे जैसे कि अगर आप MBA किसी iim college से करते हैं। तो अन्य colleges की तुलना में अच्छा business management सीख पायेंगे।

Banking and Finance
Private Banking Jobs
Account manager
Management Consulting
Information  System Management
Data analytics
Entrepreneurship
FINANCIAL ANALYTICS
Brand Manager
Equity Research Analysts
HR Generalist Business Partner
Management Consultant
Marketing Manager
Project Manager
Recruitment manager
Zonal Business Manager

Full Form of MBA = Master of Business Administration

आशा करता हु की यह पोस्ट आप के जरूर काम आएगी।  तो मित्रों इस लेख में हमने आपको MBA की फुल फॉर्म और उससे सम्बंधित सभी जानकारियां आपको दी हैं.

 

इन्हें भी पढ़े :-

 

Leave a Comment